शुक्रवार, 5 नवंबर 2010

दीपावली



आज
दीप का पर्व,
ज्योति,
हरे
अंतर-तम को |

दुःख,
दर्द,
क्लेश
मिटे जग से,
सुख - शांति,
भरे
अंतरतम को |

6 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत अच्छा पोस्ट, दीपावली की हार्दिक शुभकामनाये....
    sparkindians.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. ज्योति पर्व के अवसर पर आप सभी को लोकसंघर्ष परिवार की तरफ हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. दीपावली का ये पावन त्‍यौहार,
    जीवन में लाए खुशियां अपार।
    लक्ष्‍मी जी विराजें आपके द्वार,
    शुभकामनाएं हमारी करें स्‍वीकार।।

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    -समीर लाल 'समीर'

    उत्तर देंहटाएं
  6. गहरे भाव जगाती आपकी रचना.... दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं